How Electrical Load Calculations works for home
Reading Time: 4 minutes

Read in English

वर्तमान में लगभग हर घर में बिजली से चलने वाले कई तरह के उपकरणों का उपयोग किया जाता है। लोग अपनी ज़रूरत के हिसाब से बिजली से चलने वाले अलग-अलग उपकरणों का उपयोग करते हैं और उसी हिसाब से बिजली बिल का भुगतान भी करते हैं। क्या आप कभी भी अपने बिजली बिल को लेकर सोच में पड़े हैं कि इतना बिल कैसे आया? क्यों कुछ लोगों का बिल कम आता है और कुछ लोगों का बिल बहुत ज़्यादा आता है? अगर आप भी यह सोचते हैं, तो परेशान न हों, आज हम घरेलू उपकरणों और उनके इलेक्ट्रिकल लोड  यानी उन पर कितनी बिजली खर्च होती है के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। साथ ही हम बिजली से जुड़े कुछ कठिन शब्दों जैसे 200 amp, सर्विस पैनल और पॉवर लोड के बारे में भी जानेंगे।

इलेक्ट्रिकल लोड क्या होता है?

विस्तार से शुरू करने से पहले हम इलेक्ट्रिकल लोड क्या होता है, इसके बारे में समझ लेते हैं। सरल शब्दों में कहें तो किसी घर में बिजली से चलने वाले सभी उपकरणों द्वारा उपयोग की गई कुल बिजली की मात्रा को ही इलेक्ट्रिकल लोड कहा जाता है। वर्तमान में यह हर घर की ज़रूरत है।

इलेक्ट्रिकल लोड की गणना से जुड़ी मुख्य बातें:

  • 200 एंपियर (200Amp): यह घरों में उपयोग होने वाली विद्युत क्षमता का मानक माप होता है। सही तरीक़े से लोड कैलकुलेशन के लिए यह समझना आवश्यक है कि आपके घर में 200Amp सेवा है या नहीं।

 

  • इलेक्ट्रिक पैनल (Electric Panel): इसे डिस्ट्रीब्यूशन बोर्ड या ब्रेकर पैनल के रूप में भी जाना जाता है। यह किसी भी घर के बिजली का केंद्र होता है, जो अन्य सर्किटों के बीच बिजली का बंटवारा करता है।

 

  • सामान्य लाइट की व्यवस्था (General Lighting): कलाकृतियों या पौधों के लिए की गई विशेष प्रकाश व्यवस्था को छोड़कर, आपके घर में उपयोग होने वाले सभी लाइट बल्ब का कुल भार इस कैटेगरी में आता है।

 

  • विद्युत क्षमता (Electrical Capacity): विद्युत ऊर्जा की वह अधिकतम मात्रा जो सिस्टम को ओवरलोड किए बिना आपके घर तक पहुंचाई जाती है।

 

  • सर्विस पैनल (Service Panels): वे पैनल जिनमें सर्किट ब्रेकर या फ़्यूज़ होते हैं, जो आपके पूरे घर में विद्युत ऊर्जा के बंटवारे को नियंत्रित करते हैं।

 

  • पावर लोड (Power Load): आपके घर में उपकरण, लाइट बल्ब और अन्य उपकरणों के इस्तेमाल सहित कुल इलेक्ट्रिकल लोड को पॉवर लोड कहते हैं।

 

  • वॉटर हीटर (Water Heaters): ऐसे उपकरण जो इलेक्ट्रिकल लोड में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। उनकी बिजली संबंधी आवश्यकताएं लोड की गणना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

घरेलू उपकरणों के लिए इलेक्ट्रिकल लोड की गणना करने के चरण:

  • उपकरणों और लाइट्स की पहचान करें: अपने घर में विद्युत ऊर्जा का उपयोग करने वाले सभी उपकरणों, जैसे लाइट बल्ब, टीवी, फ्रिज, AC, वॉशिंग मशीन, और अन्य उपकरणों की एक लिस्ट बनाएं।

 

  • पावर रेटिंग निर्धारित करें: अपनी लिस्ट में दर्ज किए गये प्रत्येक आइटम की पॉवर रेटिंग (वाट या किलोवाट में) देखें। यह जानकारी आमतौर पर उपकरण पर या यूज़र मैनुअल में उपलब्ध होती है।

 

  • किलोवाट में परिवर्तित करें: समानता बनाए रखने के लिए, वाट क्षमता को 1,000 से विभाजित करके सभी आइटम की पॉवर रेटिंग को किलोवाट में परिवर्तित करें।

 

  • दैनिक उपयोग निर्धारित करें: बिजली से चलने वाले सभी आइटम को आप प्रतिदिन कितने घंटे उपयोग करते हैं, उसका औसत अनुमान लगाएं। हर रोज़ कितनी ऊर्जा खपत होती है, उसकी गणना करने के लिए यह महत्वपूर्ण है।

 

  • दैनिक ऊर्जा खपत की गणना करें: घर में उपयोग होने वाले प्रत्येक आइटम की पॉवर रेटिंग (किलोवाट में) को दैनिक उपयोग के घंटों से गुणा करें। अपनी कुल दैनिक ऊर्जा खपत प्राप्त करने के लिए इन मूल्यों को जोड़ें।

 

दैनिक ऊर्जा खपत = (बिजली रेटिंग किलोवाट में × दैनिक उपयोग घंटों में)

  • मासिक ऊर्जा खपत की गणना करें: मासिक ऊर्जा खपत के बारे में जानने के लिए दैनिक ऊर्जा खपत को महीने के दिनों की संख्या से गुणा करें।

 

  • विविधता कारक पर विचार करें: विविधता कारक (Diversity Factor) एक उपाय है, जिसका उपयोग इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में इस बात का ध्यान रखने के लिए किया जाता है कि किसी बिल्डिंग या सिस्टम में बिजली वाले सभी उपकरण एक साथ अपनी पूरी क्षमता के साथ काम नहीं करते हैं। यह इस संभावना के बारे में बताता है कि उपयोग पैटर्न में विविधता को देखते हुए सभी कनेक्टेड लोड एक साथ बिजली की मांग नही करेंगे। 

 

सरल शब्दों में कहें तो यह आपको ऐसा सोचने से रोकता है कि आपके सभी उपकरण एक ही समय में ज़्यादा बिजली का उपयोग कर रहे हैं। इससे यह अनुमान लगाने से बचने में मदद मिलती है कि आपको वास्तव में कितनी बिजली की आवश्यकता है।

  • कुल इलेक्ट्रिकल लोड की गणना करें: अपने घर में उपयोग की जाने वाली बिजली की कुल मात्रा का पता लगाने के लिए, आपने घर में अलग-अलग उपकरणों पर जितनी बिजली समायोजित (Adjusted) की है, उसे जोड़ें।

 

इलेक्ट्रिकल लोड = पॉवर रेटिंग का योग × दैनिक उपयोग के घंटों का योग × विविधता कारक

आइए दोनों अवधारणाओं को उदाहरण के माध्यम से समझने का प्रयास करते हैं:

मान लें कि आपके घर में निम्नलिखित उपकरण हैं:

  • रेफ्रिजरेटर – पॉवर रेटिंग: 1.5 किलोवाट, दैनिक उपयोग: 24 घंटे
  • एयर कंडीशनर – पॉवर रेटिंग: 4 किलोवाट, दैनिक उपयोग: 6 घंटे
  • सामान्य लाइट्स – पॉवर रेटिंग: 0.5 किलोवाट, दैनिक उपयोग: 4 घंटे
  • वॉटर हीटर – पॉवर रेटिंग: 4.5 किलोवाट, दैनिक उपयोग: 2 घंटे
  • अन्य (टीवी, कंप्यूटर, आदि) – पॉवर रेटिंग: 2 किलोवाट, दैनिक उपयोग: 8 घंटे

 

दैनिक ऊर्जा खपत की गणना:

  • रेफ्रिजरेटर: 1.5 kW × 24 घंटे = 36 kWh
  • एयर कंडीशनर: 4 kW × 6 घंटे = 24 kWh
  • लाइट्स: 0.5 kW × 4 घंटे = 2 kWh
  • वॉटर हीटर: 4.5 kW × 2 घंटे = 9 kWh
  • अन्य 2 kW × 8 घंटे = 16 kWh

 

कुल दैनिक ऊर्जा खपत: 36+24+2+9+16 = 87 kWh

अब, यदि हम 0.8 (80%) का विविधता कारक लागू करते हैं, तो:

समायोजित दैनिक ऊर्जा खपत = 87 kWh × 0.8 = 69.6 kWh

इसलिए, विविधता कारक पर विचार करने के बाद, अनुमानित दैनिक ऊर्जा खपत 69.6 kWh होगी।

निष्कर्ष:

इलेक्ट्रिकल लोड की सही तरह से गणना करना एक आवश्यक गुण या कला है, जिसकी जानकारी हर किसी को होनी चाहिए। इससे आपको अपने घर की विद्युत क्षमता को अपने हिसाब से मैनेज करने, उसे अपग्रेड करने की योजना बनाने और सौर ऊर्जा जैसे टिकाऊ ऊर्जा स्रोतों को अपनाने में भी सहायता मिलती है।

अगर आप भी अपने घर के इलेक्ट्रिकल लोड की गणना करना चाहते हैं, तो इस बात का ध्यान रखें कि गणना एकदम सही होनी चाहिए। अगर आपको समझ में नहीं आ रहा है, तो आप किसी लाइसेंस प्राप्त इलेक्ट्रिशियन से इसके बारे में जानकारी ले सकते हैं। अगर आप अपने घर के सर्विस पैनल के बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं या भविष्य में सोलर पैनल लगवाने के बारे में सोच रहे हैं, दोनों ही स्थितियों में इलेक्ट्रिकल लोड की गणना कैसे की जाती है, इसकी जानकारी होना महत्वपूर्ण होता है।

Check out more blogs

Effect of Rainy Season on Solar Energy Production
Read in English सौर ऊर्जा के उत्पादन में बरसात के मौसम...
Building-Integrated Photovoltaics (BIPV)
Building-Integrated Photovoltaics (BIPV) Introduction...
Solar Panel Warranties: What Indian Homeowners Need to Know
Solar Panel Warranties: What Indian Homeowners Need...
The Case for Hotels and Resorts Embracing Solar Energy
The Case for Hotels and Resorts Embracing Solar Energy...
The benefits of solar system for your home – Adopt a greener lifestyle
The benefits of solar system for your home –...

© Fenice Energy 2023

Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Full Name
Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Full Name
Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Full Name